शुगर क्या है और कैसे ठीक करे | डायबिटीज कैसे ठीक करे 

शुगर क्या है और कैसे ठीक करे | डायबिटीज कैसे ठीक करे 

शुगर एक प्रकार का कार्बोहाइड्रेट है जो हमारे आहार में पाया जाता है। यह एक मिठाई या खाद्यान्न में प्राकृतिक रूप से मौजूद होता है और एक आपातकालीन स्रोत के रूप में उपयोग किया जा सकता है। सुगर का प्रमुख स्त्रोत गन्ना है, जिसे सफेद चीनी के रूप में भी जाना जाता है। इसके अलावा, इसे भी प्राप्त किया जा सकता है गुड़, शक्कर (ब्राउन या डेमरा शक्कर), इंवर्ट शुगर (हॉर्नी या साधारण चीनी), शीरा, निर्माणित मिठाई आदि में उपयोग होने वाले उत्पादों में भी मौजूद होता है।

सुगर का उच्च मात्रा में सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। अधिक मात्रा में सुगर का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है, मोटापा, डायबिटीज, मस्तिष्क के रोग, दांतों की समस्याएं, हृदय रोग, इंसुलिन के संबंधित समस्याएं, और अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। साथ ही, अधिक मात्रा में सुगर का सेवन करने से दांतों पर कैविटी और मसूड़ों की समस्याएं भी हो सकती हैं।

यदि आपको डायबिटीज है या सुगर के सेवन से संबंधित अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हैं, तो आपको अपने आहार में सुगर की मात्रा को नियंत्रित करना चाहिए। आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और एक स्वस्थ आहार योजना बनाने के लिए एक पौष्टिकता विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।

शुगर कैसी बीमारी है 

सुगर, जिसे डायबिटीज (Diabetes) के नाम से भी जाना जाता है, एक खून की मात्रा में उच्च ग्लूकोज (शर्करा) स्तर की स्थिति है। यह एक अवसादी रोग है जो आपके शरीर के ग्लूकोज का सम्पन्नता को नियंत्रित करने में असमर्थ होता है। डायबिटीज के दो प्रमुख प्रकार होते हैं:

1 डायबिटीज: यह एक प्राकृतिक उत्पाद होता है जब शरीर की इंसुलिन उत्पादक कोशिकाओं को तत्वाधारी कारणों से नष्ट कर दिया जाता है। इस कारण से, शरीर में इंसुलिन उत्पादन का कोई स्रोत नहीं बचता है और रोगी को नियमित रूप से इंसुलिन की आवश्यकता होती है।

2 डायबिटीज: यह सबसे आम रूप से पाया जाने वाला प्रकार है और आमतौर पर वयस्कों में देखा जाता है। इसमें, शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन को सही ढंग से उपयोग नहीं कर पाती हैं और इंसुलिन उत्पादन कम हो जाता है।

अनियमित और अनियंत्रित शर्करा स्तर से ग्रस्त रहने के कारण, डायबिटीज के रोगियों को विभिन्न समस्याएं हो सकती हैं, जैसे कि लंबे समय तक उच्च शर्करा स्तर (हाइपरग्लाइसीमिया), निम्न शर्करा स्तर (हाइपोग्लाइसीमिया), मोटापा, दिल की बीमारी, अंधापन, किडनी की समस्याएं, दांतों की समस्याएं, आँखों की समस्याएं और नर्व संबंधी समस्याएं।

डायबिटीज का इलाज और नियंत्रण एक स्वस्थ जीवनशैली, नियमित व्यायाम, सही आहार योजना, और डॉक्टर द्वारा निर्धारित इंसुलिन या दवाओं के सेवन पर निर्भर करता है। यदि आपको डायबिटीज के लक्षण या उससे संबंधित समस्याएं हैं, तो आपको अपने चिकित्सक की सलाह और निर्देशों का पालन करना चाहिए। शुगर

शुगर कैसे ठीक करे ?

अगर आपको डायबिटीज (सुगर) है और उसे नियंत्रित करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित उपाय आपकी मदद कर सकते हैं:

1 स्वस्थ आहार: सुगर को नियंत्रित करने के लिए, आपको स्वस्थ आहार खाना चाहिए जिसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और विटामिन और मिनरल्स समेत सभी पोषक तत्वों की सही मात्रा हो। खाने में बारीकी से पिघलने वाले अनाज, हरे पत्तेदार सब्जियाँ, फल, अंडे, मछली, दाल और दूध को शामिल करें। संशोधित शर्करा (रिफाइंड सुगर) के सेवन की जगह पर पूरे अनाज, जैसे कि धनिया, जौ, गेहूँ, चावल, बाजरा, कुटू आदि का उपयोग करें। इसके अलावा, अपने आहार में फाइबर की मात्रा को बढ़ाने के लिए हरे पत्तेदार सब्जियाँ, दालें, फल और प्रकृति से पाए जाने वाले खाद्य पदार्थ शामिल करें। इसके साथ ही, अपने आहार में तेलों, मक्खन, घी, चिप्स, बिस्किट्स और मिठाई जैसे उच्च चर्बी और शर्करा युक्त खाद्य पदार्थों की मात्रा को कम करें।

2 व्यायाम: नियमित शारीरिक गतिविधि अपनाना आपके शरीर के शर्करा स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। योग, ध्यान, चलना, जॉगिंग, स्विमिंग, वज्रासन, कपालभाति, आदि जैसे व्यायाम आपके शरीर की सुगर को नियंत्रित करने में सहायता कर सकते हैं। दिन में कुछ ही मिनटों का व्यायाम भी आपको लाभ पहुंचा सकता है, इसलिए अपनी दैनिक गतिविधियों में व्यायाम को शामिल करें।

3 वजन कम करें: यदि आपका वजन अधिक है, तो उसे कम करने का प्रयास करें। मोटापा सुगर के नियंत्रण में समस्या पैदा कर सकता है। सम्भव हो सके, एक पौष्टिक आहार योजना के साथ एक प्रशिक्षित पौष्टिकता विशेषज्ञ की सलाह लें और नियमित व्यायाम करें ताकि आप अपना वजन कम कर सकें।

4 दवाएँ और इंसुलिन: अपने चिकित्सक के साथ बातचीत करें और उनकी सलाह के अनुसार दवाओं और इंसुलिन का सेवन करें। यदि आपको टाइप 2 डायबिटीज है, तो आपको इंसुलिन की आवश्यकता नहीं हो सकती है, लेकिन दवाओं का नियमित सेवन करना महत्वपूर्ण है।

5 नियमित चेकअप: नियमित चिकित्सा जांच और अपने चिकित्सक के साथ नियमित रूप से मिलना महत्वपूर्ण है। चिकित्सा जांच के द्वारा, आपके शर्करा स्तर का मूल्यांकन किया जा सकता है और उचित उपचार की जरूरत पता चल सकती है।

सुगर (डायबिटीज) को पूरी तरह से ठीक करना संभव नहीं है, लेकिन उपरोक्त उपायों को अपनाकर आप अपने शर्करा स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं और अच्छी स्वास्थ्य स्थिति को बनाए रख सकते हैं। यदि आपके पास सुगर के संबंध में किसी भी प्रकार का संदेह है या आपको सही उपचार चाहिए, तो अपने चिकित्सक की सलाह ले |

Sharing Is Caring:

Leave a Comment