Tomato Flu लक्षण, कारण और बचाव के उपाय

टोमैटो फ्लू क्या है? What is Tomato Flu?

tomato flu एक वायरल बीमारी है जिसके परिणामस्वरूप शरीर के कई हिस्सों पर छाले/चकत्ते, त्वचा में जलन, और बच्चों में निर्जलीकरण की समस्याएँ होती है। यह वायरल बीमारी ज्यादातर पांच साल से कम उम्र के बच्चों में होती है। चूँकि, इस दौरान बच्चे के शरीर में बने छाले, चकत्ते, या फफोले और बच्चे का शरीर टमाटर की तरह लाल हो जाता है इस कारण इस वायरल बुखार का नाम tomato flu रखा गया है।

Tomato flu

हालांकि, टमाटर बुखार का प्रेरक एजेंट डेंगू से संबंधित है या चिकनगुनिया (एक वायरल बुखार) अनिश्चित बना हुआ है।

टोमैटो फ्लू के कारण क्या हैं? What are the causes of tomato flu?

रोग के कारण अभी भी अज्ञात हैं। स्वास्थ्य अधिकारी अभी भी टोमैटो फ्लू tomato flu के कारणों की जांच कर रहे हैं। इसके पीछे कई विशेषज्ञ डेंगू या चिकनगुनिया को कारण बता रहे हैं। हालांकि यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि, टमाटर बुखार एक प्रकार का फ्लू है जो केवल छोटे बच्चों पर हमला करता है।

बीमारी को खतरनाक बनने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग जागरूकता अभियान चला रहा है। हालांकि, यह बीमारी मुख्य रूप से केरल में फैली है। लेकिन देश का स्वास्थ्य मंत्रालय इसे लेकर चिंतित है। जिसके तहत कई राज्यों को अलर्ट पर रखा गया है।

टोमैटो फ्लू के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of tomato flu?

फिलहाल तक सामने आए मामलों के अनुसार टोमैटो फ्लू के लक्षण निम्न प्रकार दिखाई दे सकते हैं :-

  • बुखार
  • खांसी
  • जुकाम और नाक बहना
  • थकावट
  • बदन दर्द
  • खुजली
  • उल्टी
  • मतली
  • जोड़ों में दर्द
  • बेरंग त्वचा
  • पेटदर्द
  • डायरिया

                                                                                                        कुछ रोगियों में निम्न लक्षण भी दिखाई दियें है जो कि tomato flu की गंभीरता को     दर्शाते हैं :-

  1. हाथों, घुटनों और नितंबों का मलिनकिरण

  2. मतली आना

  3. उल्टी आना

  4. पेट में ऐंठन हो जाना

  5. थकान बने रहना 

  6. सामान्य से ज्यादा खाँसना

  7. छींक आना                                                                                                                                                        

    टोमाटो फ्लू से कैसे बचें – prevention of Tomato Flu?

    विशेषज्ञों के अनुसार इस बीमारी में मृत्यु दर बहुत कम है और इसका आसानी से इलाज हो सकता है. स्वयं को टोमाटो फ्लू से बचाने के लिए आप निम्न कुछ कदम उठा सकते हैं.

    • खूब सारा पानी, जूस और अन्य लिक्विड पिएं
    • यदि संभव हो तो गुनगुना पानी पिएं
    • अगर फफोले हो गए हैं तो उन्हें न छुएं
    • व्यक्तिगत साफ-सफाई रखें
    • टोमाटो फ्लू से संक्रमित व्यक्ति से दूरी बनाकर रखें
    • टोमाटो फ्लू के लंबे समय तक रहने वाले असर से बचने के लिए खूब आराम करें
    • संक्रमित बच्चों के खिलौने, कपड़े, खाना और अन्य वस्तुओं को दूसरे बच्चों से शेयर न करें

    टोमाटो फ्लू की पहचान कैसे होती है – Diagnosis for Tomato Flu?

    जिन मरीजों में टोमाटो फ्लू के लक्षण दिख रहे हैं उनके रोग का निदान मोलिक्यूलर और सेरोलॉजिकल टेस्ट के जरिए किया जा सकता है. यह टेस्ट जिका वायरस, चिकुनगुनिया, वैरिसेला-जोस्टर वायरस, हरपीस और डेंगू के निदान में भी काम आते हैं.

    टोमाटो फ्लू का इलाज – How to treat Tomato Flu?

    वर्तमान में, टोमैटो फ्लू के लिए कोई विशिष्ट उपचार नहीं है। इसलिए, इस रोग को केवल लक्षणात्मक रूप से प्रबंधित किया जा सकता है।

    अगर आपके बच्चे को tomato flu हो गया है तो आप अपने घर के अंदर और आसपास साफ-सफाई रखें। बच्चे के शरीर पर लाल चकत्ते होने पर उसे खुजलाना बंद कर दें। अपने स्वस्थ बच्चों को संक्रमित मरीजों से दूर रखें और उनके सामान का इस्तेमाल करने से बचें।

  8. एक्सपर्ट्स की माने तो इस बीमारी की सबसे बड़ी समस्या है कि इसमें रोगी के शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिसको ध्यान में रखते हुए रोगी के शरीर में पानी की कमी को दूर करते रहना होगा। फलों का जूस पीते रहें, शरबत पियें और शरीर में पानी की कमी को दूर करने के लिए पानी पीते रहें। अगर आपका बच्चा पानी नहीं ले रहा है तो ऐसे में उसे अस्पताल में भर्ती करा कर ड्रिप लगाईं जा सकती है।

    टोमैटो फ्लू होने पर कौन से घरेलू उपाय पाएं? What are the home remedies for tomato flu?

    बिलकुल नहीं, अगर आपका tomato fluसे जूझ रहा है तो आपको कोई भी घरेलु उपाय नहीं अपनाना चाहिए। फिलाहल, इस गंभीर बुखार के बारे में ज्यादा जानकारी मौजूद नहीं हैं, जिसकी वजह से बिना किसी विशेषज्ञ की सलाह के उठाया गया कदम गंभीर परिणाम खड़े कर सकता है। 

    बल्कि, tomato flu के लक्षणों को जानें और देखते ही तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। त्वचा पर लाल छाले, त्वचा में जलन, जोड़ों में दर्द, नाक बहना, तेज बुखार, पेट दर्द, उल्टी, खांसी, शरीर में दर्द, छींक आना, दस्त और थकान इसके लक्षण हैं। 

    टमाटर फ्लू होने पर बच्चे को ज्यादा पानी पीना पड़ेगा। अगर आप पानी पी सकते हैं, तो कई समस्याएं हल हो जाएंगी। इसके अलावा रैश-आउट एरिया को भी धीरे से साफ करना चाहिए। अगर शरीर पर दोबारा घाव हो जाए तो सावधान हो जाएं। लेकिन उस रैश को अपने नाखूनों से किसी भी तरह से न खुजलाएं। ऐसे में संक्रमण का खतरा कई गुना बढ़ सकता है। ऐसे में सावधान रहने के अलावा कोई चारा नहीं है।

    टोमाटो फ्लू से कैसे बचें? How to Avoid Tomato Flu?

    tomato flu से अपना और अपने बच्चों का बचाव करना बहुत ही आसान है। विशेषज्ञों के अनुसार इस बीमारी में मृत्यु दर बहुत कम है और इसका आसानी से इलाज हो सकता है। तो ऐसे में आप टोमाटो फ्लू से बचाव के लिए निम्नलिखित कदम उठा सकते हैं :-

    1. दिन भर में कम से कम दो लीटर पानी लें, इसके अलावा अन्य पेय उत्पादों का सेवन भी कर सकते हैं, जैसे – ताजा जूस और नारियल पानी 
    2. यदि संभव हो तो ठंडे पानी की जगह गुनगुना पानी लें
    3. अगर फफोले हो गए हैं तो उन्हें छूने से बचें
    4. अपनी और बच्चों की साफ-सफाई का खास ख्याल रखें

                                                                                                                    अगर आपके घर में कोई टोमाटो फ्लू से संक्रमित हो गया है तो निम्नलिखित कदम उठाएं :– 

    1. tomato flu से संक्रमित व्यक्ति/बच्चे से उचित दूरी बनाकर रखें
    2. संक्रमित के पास जाने से पहले मास्क और दस्तानों का उपयोग करें 
    3. संक्रमित के आसपास साफ़-सफाई का खास ख्याल रखें 
    4. सेनीटाईजार का उपयोग करें और हाथ को समय-समय पर धोते रहें
    5. संक्रमित बच्चों के खिलौने, कपड़े, खाना और अन्य वस्तुओं को दूसरे बच्चों के साथ साझा न करें
    6. संक्रमित होने के दौरान और संक्रमण से ठीक होने के बाद शरीर को आराम दें, कुछ ऐसा काम न करें जिससे थकान, बुखार और अन्य कोई शारीरिक समस्या हो जाए

    टोमाटो फ्लू का टमाटर से क्या संबंध है? What does tomato have to do with Tomato Flu?

    यदि आप टोमैटो फ्लू नाम सुनने के बाद tomato flu और टमाटर के बीच में कोई संबंध ढूंढ रहे हैं तो हम आपको सलाह देंगे कि आप बेकार में कोई कोशिश न करें, क्योंकि दोनों के बीच कोई संबंध नहीं है। 

    दरअसल,tomato flu होने पर रोगी के शरीर पर टमाटर जैसे लाल रंग के फफोले या निशान हो जाते हैं। इसी कारण से इस संक्रमण का नाम टोमैटो फ्लू रखा गया है।

    Top 5 Pimple cream जो पिंपल्स को जड़ से खत्म करे |

    पिम्पल पैच: त्वचा की समस्याओं का No.1 रामबाण समाधान

    ब्रेन ट्यूमर के लक्षण पहचानें: जागरूकता बढ़ाएं और समय से पहले पता लगाएं 1

    डेंगू के लक्षण: जानें और एक पॉजिटिव नजरिये से अपने स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें

    Mouth Cancer Symptoms Hindi

Sharing Is Caring:

Leave a Comment